निरस्त हो सकती हैं 7 जुलाई से प्रारंभ होने वाली विश्वविद्यालय की परीक्षाएं, May be cancelled DDU GKP University Examination 2020

गोरखपुर यूनिवर्सिटी :- कोविड-19 महामारी को देखते हुए विश्वविद्यालय ने 2020 की अपनी सभी परीक्षाएं निरस्त कर दी थी! परीक्षाएं दोबारा कब प्रारंभ होगी, यह किसी को भी नहीं पता था! लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मिली गाइडलाइन के बाद हाल ही में लखनऊ विश्वविद्यालय ने बची हुई परीक्षाएं 7 जुलाई 2020 से कराने का निर्णय लिया! इसके तुरंत बाद ही दीनदयाल उपाध्याय गोरखपुर विश्वविद्यालय ने भी शेष परीक्षाएं 7 जुलाई से कराने का निर्णय लिया है! विश्वविद्यालय ने परीक्षाओं की Timetable भी जारी कर दी हैं!

क्या परीक्षाएं निरस्त हो जाएंगी????

इसको लेकर कई छात्र संगठनों और छात्र नेताओं ने अपना विरोध दर्ज कराया है! 23 जून 2020 को एक छात्र नेता अनिल दुबे ने गोरखपुर विश्वविद्यालय में कुलसचिव, परीक्षा नियंत्रक और प्रॉक्टर से मिलकर वार्षिक परीक्षाओं को नहीं करवाने के लिए ज्ञापन सौंपा! विश्वविद्यालय प्रशासन को चेताने का काम किया कि अगर इस संकट की घड़ी में छात्रों के साथ अन्याय हुआ तो छात्र चुप नहीं बैठेंगे! छात्रों ने जो ज्ञापन विश्वविद्यालय को सौंपा वह इस प्रकार है.......

निरस्त हो सकती हैं 7 जुलाई से प्रारंभ होने वाली विश्वविद्यालय की परीक्षाएं???, May be cancelled DDU GKP University Examination 2020

निरस्त हो सकती हैं 7 जुलाई से प्रारंभ होने वाली विश्वविद्यालय की परीक्षाएं???, May be cancelled DDU GKP University Examination 2020

बची हुई परीक्षाओं को कराने को लेकर सोशल मीडिया पर चर्चाएं :-

सोशल मीडिया पर भी देखा जा रहा है की एग्जाम कराने को लेकर छात्रों के बीच काफी चर्चाएं हो रही हैं की एग्जाम नहीं होनी चाहिए! छात्रों ने कई समस्याओं व सवालों का जिक्र किया है जो कि इस प्रकार है......
  • पेपर देने के लिए छात्रावासी छात्र के लिए छात्रावास कब खोला जाएगा?
  • जब छात्रावासी मेस की शुल्क जमा किया हुआ है तो बाहर भोजन क्यों करेगा?
  • क्या विश्वविद्यालय प्रशासन की यह मंशा है कि पेपर देने वाली रात को छात्रावास खोला जाएगा?
  • अगर किसी छात्र को मौसमी वायरल फ्लू हो, जैसे खांसी, छींक, बुखार हो तो क्या वह विद्यार्थी परीक्षा से वंचित होगा? या उसे अलग बैठाकर मानसिक तनाव दिया जाएगा?
  • जिन गांवों, मोहल्ले या शहरों से कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं और वहां आज भी पूरा इलाका सील हो तो वहां के छात्रों के लिए क्या इंतजाम है?
  • अगर किसी तरह से छात्र आ भी गए तो क्या उनको सबके साथ पेपर देना चाहिए?
  • भगवान ना करे कोई छात्र संक्रमित हो, अगर इस दौरान कोई होता है तो उसकी जिम्मेदारी क्या विश्वविद्यालय प्रशासन में एचआरडी मिनिस्ट्री लेगी?
  • सबसे अहम सवाल, बिहार से बड़ी मात्रा में छात्र विश्वविद्यालय के छात्र हैं, कुछ छात्रावासी होंगे तो कुछ किराए के मकान लेकर रह रहे थे, इस विकट काल में लगभग सभी छात्र मकान मालिक के दबाव या अन्य कारणों से रूम छोड़ चुके हैं, इस विकट परिस्थितियों में उन्हें रूम कहां मिलेगा?? उन छात्रों का क्या होगा???
  • ट्रेनों और बसों से आने वाले छात्र अगर थोड़ा विलंब होते हैं या न मिल पाने के कारण पेपर से वंचित होते हैं तो उनका क्या होगा?
दीन दयाल उपाध्याय विश्वविद्यालय प्रशासन जवाब दे!!!!

यह सब देखने के बाद ऐसा प्रतीत होता है आने वाले समय में परीक्षाएं निरस्त हो सकते हैं आप सभी का इस के बारे में क्या राय है? कमेंट करके जरूर बताएं......

1 Comments

Thanks for your comments.

Post a Comment

Thanks for your comments.

Previous Post Next Post